Connect with us

Trending

गोरखपुर में यातायात को कम करने के लिए यूपी कैबिनेट ने लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम को ठीक किया

Published

on

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में यातायात की सुगम आवाजाही सुनिश्चित करने के उद्देश्य से राज्य मंत्रिमंडल ने लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम को मंजूरी दे दी है और इसकी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को मंजूरी दे दी है ।शनिवार को यहां जारी एक प्रेस बयान के अनुसार प्रस्तावित परियोजना २७.८४ किलोमीटर लंबी होगी और इसमें दो एलिवेटेड कॉरिडोर और 27 स्टेशन होंगे ।विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस परियोजना की कीमत कुल 4,672 करोड़ रुपये है और इसे 2024 तक चालू करने का लक्ष्य रखा गया है।गोरखपुर की यातायात व्यवस्था में सुधार और उन्हें सुचारू बनाने के उद्देश्य से कैबिनेट ने लाइट रेल ट्रांजिट (एलआरटी) परियोजना को सार्वजनिक परिवहन प्रणाली के रूप में मंजूरी दे दी है और इसकी डीपीआर को मंजूरी दे दी है ।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि लखनऊ, गाजियाबाद और नोएडा में वर्तमान में चालू मेट्रो परियोजनाओं के अलावा दिल्ली से मेरठ तक क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम पर काम चल रहा था जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा 2020-21 बजट के माध्यम से ९०० करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था ।विज्ञप्ति के अनुसार आगरा मेट्रो रेल परियोजना के लिए 286 करोड़ रुपये और कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए 358 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था, जहां काम चल रहा था।

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दिशा में एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में मंत्रिमंडल ने शराब के डिस्टिलरी/कैप्टिव डिस्टिलरी/शराब के उत्पादन/शराब निर्माण क्षमता में वृद्धि से संबंधित प्रसंस्करण मामलों में निर्णय लेने को विकेंद्रीकरण करने को मंजूरी दी ।इसके तहत प्रक्रिया में देरी न हो इसके लिए आबकारी आयुक्त से लेकर उप आबकारी आयुक्त स्तर तक कुछ निर्णय लेने की शक्तियां विकेंद्रीकृत कर दी गई हैं।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि इसे औपचारिक रूप देने के लिए यूपी डिस्टिलरी नियमों में संशोधन को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है ।कैबिनेट ने गोरखपुर में नए कलेक्ट्रेट भवन के निर्माण के लिए पुराने भवनों को गिराने की मंजूरी भी दे दी।विज्ञप्ति में कहा गया है कि कलेक्ट्रेट भवन १९०३ में बनाया गया था और इसकी हालत खराब थी ।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *